भारती सिंह प्रेग्नेंसी वेट लॉस डाइट एक्सरसाइज: क्या आपने देखा भारती सिंह का वीडियो? दिखाएँ गर्भावस्था में प्रसव पीड़ा के दौरान क्या हुआ, उसके अनुभव में दिखेगा मांस में काँटा..!

कॉमेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया का हाल ही में एक बेटा हुआ है। दोनों ने अन्य महिलाओं को प्रसव पीड़ा और उस अनुभव के बारे में दिखाने के लिए एक अनूठा वीडियो शूट किया। एक महिला के जीवन में लेबर पेन सबसे दर्दनाक होता है। इस समय इतना दर्द होता है कि पुरुष मंडली सोच भी नहीं सकती। उन्होंने अपने बच्चे के जन्म से दो दिन पहले इस वीडियो की शूटिंग शुरू कर दी थी।

लेबर पेन शुरू होने से पहले ही भारती को कमर दर्द होने लगा था। उसने यह भी साझा किया कि उसने इन कठिन समय के दौरान और भी कई चीजों का अनुभव किया और उन्हें कभी नहीं भूलेगी। उनका यह वीडियो किसी भी पहली बार मां बनने वाली मां के लिए जरूर काम आएगा।

वह डर गयी थी

भारती सिंह के पति हर्ष ने कहा कि वह पहले से ही डिलीवरी को लेकर डरी हुई थीं। वह पहली बार मां बनने वाली थीं और यह उनका पहला प्रसव का अनुभव था। किसी औरत के लिए इस तरह के विचार रखना कितनी परेशानी की बात होगी? क्या इससे इतना ज्यादा दर्द होता है? डिलीवरी नॉर्मल होगी या सिजेरियन? खासकर महिलाओं को पहले से ही डर होता है कि दर्द असहनीय है और इसलिए वे ज्यादा डरती हैं। भारती की भी यही स्थिति थी लेकिन हर्ष ने उसे अच्छे-अच्छे चुटकुले सुनाकर उसे सामान्य रखने की कोशिश की।

(पढ़ना: – ऐसा क्यों कहा जाता है कि अगर कोई रिश्ता है तो प्रियंका चोपड़ा और उनकी मां मधुशा की तरह दोनों में ‘इन’ विषयों पर चर्चा होती है..!)

भारी पीठ दर्द

भारती ने कहा कि लेबर शुरू होने से पहले उन्हें कमर दर्द की शिकायत थी, लेकिन उन्होंने इस बारे में किसी को नहीं बताया। भारती को लगा कि अगर वह अपने पीठ दर्द के बारे में किसी को बताएगी तो उसका परिवार उसे चिंता के कारण काम नहीं करने देगा। वह शूट पर जाना चाहती थीं, इसलिए उन्होंने इसे सीक्रेट रखा। फोटो क्रेडिट: TOI

(पढ़ना: – कई महीनों की गंभीर बीमारी के बाद भी प्रेग्नेंट हैं सोनम कपूर, स्त्री रोग विशेषज्ञ ने किया खुलासा..!)

पीठ के निचले भाग में दर्द

भारती ने कहा कि उन्हें लेबर पेन शुरू होने से पहले से ही कमर दर्द हो रहा था। कई बार समस्या और भी विकराल हो जाती है। लेकिन उसने कभी किसी को नहीं बताया। क्योंकि उसे डर था कि हर कोई उसकी चिंता करेगा और उसे काम पर जाकर शूटिंग नहीं करने देगा। उसे घर रहना है। भारती घर पर रहने के लिए बहुत ऊब चुकी है। इसलिए उसने इसे अपने पास रखा।

(पढ़ना: – यदि बच्चे उज्ज्वल भविष्य के साथ शांतिपूर्ण जीवन चाहते हैं, तो ‘यह’ बौद्ध नाम रखें, भारतीय या अमेरिकी नहीं!)

पीठ दर्द क्यों होता है?

इस बारे में पूछे जाने पर दिल्ली की जानी-मानी स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. अर्चना नरूला ने इसके पीछे के कुछ कारण बताए। उनका कहना है कि प्रेग्नेंसी के दौरान वजन बढ़ना, पोस्चर में बदलाव, हार्मोनल बदलाव और तनाव के कारण भी कमर दर्द हो सकता है। इसके अलावा, अगर बच्चे का वजन बढ़ गया है, तो यह शरीर को भी प्रभावित कर सकता है और कूल्हों और कमर में तेज दर्द का कारण बन सकता है। ऐसे में महिला को बिना घबराए दर्द का सामना करना चाहिए क्योंकि यह एक प्रक्रिया है और यह केवल अस्थायी है।

(पढ़ना: – मां-बाप नहीं बन रहे हैं तो मत बैठो रोओ, खा सकते हैं ‘यह’ खाना, हुआ आपका सपना सच, रिसर्च ने भी किया ये साबित..!)

आम समस्याएं हैं

भारती और हर्ष ने इस वीडियो को अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर किया है और इस वीडियो में सभी महिलाओं को डिलीवरी के समय भारती द्वारा बताई गई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हर महिला को पहली बार गर्भवती होने का लगातार डर रहता है और कमर, कूल्हों और पेट में तेज दर्द होता है। यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है और ये चीजें उसी के अनुसार होती हैं। अगर आप भी प्रेग्नेंट हैं और यह आपकी पहली प्रेग्नेंसी है तो आपको भारती का यह वीडियो बहुत काम का लगेगा।

(पढ़ना: – सही उम्र और तुरंत माता-पिता बनना चाहते हैं? तो ट्राई करें आयुर्वेदिक डॉक्टरों के बताए ‘ये’ सीक्रेट टिप्स..!)

पति का प्यार

लेबर पेन कितना दर्दनाक होता है ये सिर्फ एक महिला ही समझ सकती है। वह उस दर्द से निपटना चाहती है। एक पति के रूप में, जब आप हमेशा उसके साथ होते हैं और उसका समर्थन करते हैं, तो उसे इस दर्द का सामना करने के लिए एक मानसिक सहारा मिलता है। हर्ष ने एक पति के रूप में अपने कर्तव्यों का बखूबी निर्वहन किया और भारती को यथासंभव आश्वस्त किया। जब पत्नी डिलीवरी रूम में जा रही हो तो उसके पैसे का सबसे ज्यादा डर रहता है इसलिए सबसे पहले उसे बहुत हिम्मत दें और उससे कहें कि सब ठीक हो जाएगा। यहां तक ​​कि एक साधारण सी चीज जैसे उसका हाथ पकड़ना और उसे अपने पास रखना भी उसे इस कठिन समय से सुरक्षित बाहर निकलने में मदद कर सकता है।

(पढ़ना: – सचिन तेंदुलकर ने महाभारत में लड़के को दिया था ‘या’ योद्धा का नाम, क्या थी नाम चुनने के पीछे मकसद और कहानी!)

वीडियो पोस्ट किया..!

.

Source link

My blog website- https://filmfare91.com/ https://dktechhind.in/ https://dktechhindi.xyz/ Best ad network site- https://propellerads.com/publishers/?ref_id=eGii My youtube channel- https://youtube.com/c/dktechlearn Best electronic devices- https://amzn.to/3592Puc https://amzn.to/3uuerR4 https://www.digistore24.com/redir/321021/dktechhind/ https://www.digistore24.com/redir/325658/dktechhind/ https://www.digistore24.com/redir/365899/dktechhind/ https://www.digistore24.com/redir/382325/dktechhind/ Best crypto trading app- Hey, get FREE BITCOIN worth Rs. 50 on downloading the CoinSwitch Kuber app using my referral link. Join me and 1.4 crore traders who are trading in 100s of crypto. Hurry, use my link: https://coinswitch.co/in/refer?tag=bG9Ps

इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम घरेलू उपचार: आंतों की सेहत: ये हैं वो 5 फूड्स जो बड़ी आंत को करते हैं गंभीर चोट, डायटीशियन ने कहा आंतों को मजबूत करने वाले 10 फूड..! #lifestyle #love #life #instagood #motivation #fitness #instagram #fashion #photography #style #like #happy #follow #inspiration #photooftheday #travel #beauty

इरिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS) एक गंभीर बीमारी है जो बड़ी आंत को प्रभावित करती है। यह एक पुरानी बीमारी है जो किसी व्यक्ति को लंबे समय तक धारण कर सकती है। इससे मरीज की बड़ी आंत में अल्सर हो जाता है, जिसका समय रहते इलाज कराने की जरूरत होती है। लक्षणों में सूजन, पेट दर्द, गैस, दस्त, और कब्ज, या दोनों शामिल हैं। बहुत कम लोगों में हल्के लक्षण होते हैं। दरअसल, यह रोग पेट की समस्याओं या दर्द और आंतों की समस्याओं का एक संयोजन है। इस मामले में, रोगी को कम या ज्यादा बार-बार मल त्याग हो सकता है, जिसका अर्थ है कि उसे दस्त या कब्ज हो सकता है। मल पतला, सख्त, मुलायम या बहुत पानी जैसा हो सकता है।

इस रोग का पाचन तंत्र पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसके लक्षण दिनों, हफ्तों या महीनों तक भी रह सकते हैं। अगर हम आईबीएस के इलाज की बात करें तो इसके लिए कई उपचार उपलब्ध हैं लेकिन अच्छे आहार से इसे दूर किया जा सकता है। फैट टू स्लिम के निदेशक में पोषण विशेषज्ञ और आहार विशेषज्ञ शिखा अग्रवाल शर्मा के मुताबिक, कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो इस बीमारी के लक्षणों को नियंत्रित कर सकते हैं और आपको राहत दे सकते हैं, जबकि कुछ खाद्य पदार्थ दर्द को और भी खराब कर सकते हैं।

चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम होने पर इन खाद्य पदार्थों से बचें

  1. परिष्कृत, पैक और संसाधित कार्बोहाइड्रेट
  2. डेयरी उत्पाद और ग्लूटेन से भरपूर खाद्य पदार्थ दस्त का कारण बन सकते हैं इसलिए इनसे बचना चाहिए।
  3. गहरे तले हुए खाद्य पदार्थ और कृत्रिम मिठास सूजन पैदा कर सकते हैं
  4. अघुलनशील फाइबर जैसे बीन्स, गाजर, ब्रोकोली, खुबानी, स्प्राउट्स, सेब, नाशपाती और नाशपाती
  5. सोयाबीन, दाल और मटर आम तौर पर प्रोटीन और फाइबर के अच्छे स्रोत होते हैं। इसमें ओलिगोसेकेराइड नामक यौगिक होते हैं जो आंतों के लिए अच्छे नहीं होते हैं।

(पढ़ना: – बॉडी ट्रांसफॉर्मेशन: 86 किलो डॉक्टर ने ‘या’ ट्रिक से घटाया 28 किलो वजन, चावल और चपाती खाने के बाद भी हासिल किया चौंकाने वाला वजन!)

इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम होने पर क्या खाएं?

आईबीएस रोगियों को अपने आहार के बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। खाने की अलग-अलग आदतें हर मरीज को अलग तरह से प्रभावित करती हैं। पत्तागोभी, सलाद, नट्स, अंडे, पपीता, स्ट्रॉबेरी और संतरे जैसे फल फायदेमंद हो सकते हैं। इस बात पर हमेशा नजर रखें कि आपको इनमें से किससे फायदा होता है। यदि यह कोई परिवर्तन नहीं दिखाता है, तो अपना आहार फिर से बदलें।

(पढ़ना: – वजन घटाएं 1 हफ्ते में: हफ्ते में 1 किलो वजन घटाता है फिटनेस एक्सपर्ट्स का कहना है 4 फूड्स और 10 एक्सरसाइज..!)

हर्बल चाय फायदेमंद

भोजन के बाद एक कप हर्बल चाय पीने से भोजन के पाचन में मदद मिलती है। हर्बल चाय में पुदीना होता है जो पाचन तंत्र को शांत करता है और टॉनिक का काम करता है। इससे अधिक खाने की इच्छा कम हो जाती है।

(पढ़ना: – XE वायरस के लक्षण: भयानक, भारत में 10 गुना तेजी से फैला कोरोना XE वायरस, ‘ये’ हैं अजीब लक्षण..!)

लहसुन

उच्च सल्फर सामग्री के कारण लहसुन में उच्च एंटीबायोटिक गुण होते हैं। जो विषाक्त पदार्थों को निकालकर पाचन तंत्र को साफ रखने में मदद करता है।

(पढ़ना: – शरीर के प्रकार: अपने शरीर के प्रकार के अनुसार अपने शरीर के कुल वजन और वसा को कम करें, पहचानें कि आपका शरीर किस प्रकार में आता है..!)

मैस्टिक गम

मैस्टिक गम पेट के एसिड को कम करने और पेट और आंतों की परत की रक्षा करने में मदद करता है। मैस्टिक गम में आवश्यक तेल भी होते हैं जो बैक्टीरिया को मारने और सांस को ताज़ा करने की क्षमता रखते हैं। मैस्टिक गम को हमेशा की तरह चबाया जा सकता है या इसे कैप्सूल या पाउडर के रूप में लिया जा सकता है।

(पढ़ना: – विश्व स्वास्थ्य दिवस: बेली फैट और कोलेस्ट्रॉल को एक साथ बर्न करता है।)

नोट: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

.

Source link

एक सप्ताह में 1 किलो वजन कैसे कम करें: वजन कम करें

वजन बढ़ना इन दिनों एक गंभीर समस्या बन गया है। जब तेजी से वजन घटाने की बात आती है, तो ज्यादातर लोग तुरंत अपना वजन कम करना चाहते हैं। वजन कम करने की जल्दी में होना आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है दूसरी बात यह तुरंत वजन कम कर सकता है लेकिन तेजी से बढ़ भी सकता है। यदि आप अपना वजन कम करने की सोच रहे हैं, तो आपका लक्ष्य प्रति सप्ताह दो पाउंड वजन कम करना होना चाहिए। विशेषज्ञों का कहना है कि प्रति सप्ताह दो पाउंड या लगभग एक किलोग्राम वजन कम करना सही तरीका नहीं है, लेकिन अगर स्वस्थ तरीके से किया जाए तो स्वास्थ्य को कोई नुकसान नहीं होगा। न्यासांडी

प्रवक्ता और जेनकी पोषण जोनाथन वाल्डेज़ के अनुसार, सप्ताह में एक से दो पाउंड वजन कम करने का सबसे सुरक्षित तरीका है। सीडीसी का मानना ​​​​है कि जो लोग धीरे-धीरे और लगातार वजन कम करते हैं (लगभग एक से दो पाउंड प्रति सप्ताह) लंबे समय तक वजन घटाने को बनाए रखने में अधिक सफल होते हैं।

प्रति सप्ताह 1 किलो वजन कैसे कम करें?

वाल्डेज़ का कहना है कि आपको हर हफ्ते दो पाउंड या एक किलोग्राम वजन कम करने के लिए अपनी कैलोरी पर ध्यान देने की जरूरत है। हमें इस बात का खास ख्याल रखने की जरूरत है कि हमें रोजाना खाने से कितनी कैलोरी मिलती है और कितनी कैलोरी हम रोजाना बर्न करते हैं। प्रति सप्ताह दो पाउंड या एक किलोग्राम वजन कम करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने दैनिक भोजन से 500 कैलोरी कम खाएं और अपनी दैनिक कैलोरी को 500 कैलोरी कम करने के लिए व्यायाम करें।

(पढ़ना: – XE वायरस के लक्षण: भयानक, भारत में 10 गुना तेजी से फैला कोरोना XE वायरस, ‘ये’ हैं अजीब लक्षण..!)

प्रति सप्ताह 1 किलो वजन कम करने के लिए कितनी कैलोरी

-1-

वाल्डेज़ के अनुसार, आपको ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो आपके पेट में 1,200 कैलोरी से कम जलाएं। अधिकांश लोगों के लिए यह जानना मुश्किल हो सकता है कि उन्होंने कितनी कैलोरी ली है, खासकर यदि आप व्यायाम भी कर रहे हैं। इसके लिए आप किसी डायटीशियन और न्यूट्रिशनिस्ट से सलाह ले सकते हैं।

(पढ़ना: – शरीर के प्रकार: अपने शरीर के प्रकार के अनुसार अपने शरीर के कुल वजन और वसा को कम करें, पहचानें कि आपका शरीर किस प्रकार में आता है..!)

प्रति सप्ताह 1 किलो वजन कम करने के लिए क्या खाना चाहिए?

-1-
  1. रोजाना दो कप फल
  2. रोजाना दो से तीन कप सब्जियां
  3. रोजाना छह से आठ कप तरल पदार्थ के साथ या सुबह के पेशाब के पीले होने तक जारी रखें।
  4. पच्चीस से 30 ग्राम दुबला प्रोटीन दिन में तीन बार

(पढ़ना: – विश्व स्वास्थ्य दिवस: बेली फैट और कोलेस्ट्रॉल को एक साथ बर्न करता है।)

कितना व्यायाम करना है

FitOne के फिटनेस ट्रेनर ब्री मिशेल के मुताबिक, आपको एक दिन में 1,000 कैलोरी बर्न करने की जरूरत होती है। चूंकि आप पहले ही भोजन से 500 कैलोरी कम कर चुके हैं, इसलिए आपको व्यायाम के माध्यम से 250 से 500 कैलोरी कम करने का लक्ष्य रखना चाहिए।

(पढ़ना: – ख़राब फ़ूड कॉम्बिनेशन: सावधान रहें, अंडे से गलती से न खाएं ये 5 फ़ूड, ना तो वज़न कम होगा और ना ही प्रोटीन, इसके अलावा होंगे 5 गंभीर साइड इफेक्ट..!)

कितने घंटे और कौन से व्यायाम करने चाहिए?

मिशेल का कहना है कि रोजाना एक घंटे कार्डियो और हफ्ते में दो से तीन बार फुल बॉडी स्ट्रेंथ ट्रेनिंग के साथ 60 से 90 मिनट की डेली एक्सरसाइज जरूरी है। निम्नलिखित व्यायामों को अपने व्यायाम दिनचर्या में शामिल करना चाहिए –

  1. पैदल चलना
  2. धीमी दौड़
  3. लंबी दूरी पर पैदल चलना
  4. साइकिल चलाना
  5. सीढ़ियों पर चढ़ना
  6. तैरना
  7. नृत्य
  8. किकबॉक्सिंग
  9. HIIT
  10. किसी अन्य प्रकार का कार्डियो

याद रखें कि हर किसी का मेटाबॉलिज्म अलग होता है। इसका मतलब है कि कैलोरी के इस्तेमाल और बर्न करने के लिए हर किसी का शरीर अलग तरह से काम करता है। वजन घटाने के बाद थकान और लगातार थकान रहेगी।

(पढ़ना: – कोरोना चौथी लहर के लक्षण: कोरोना की चौथी लहर से पहले दांतों में दिखने लगे हैं ये 6 गंभीर लक्षण, विशेषज्ञों का कहना है ‘कोविड दांत’!)

नोट: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

.

Source link

किस प्रकार के शरीर का वजन आसानी से कम होता है: शरीर के प्रकार: अपने शरीर के प्रकार के अनुसार अपने शरीर के कुल वजन और वसा को कम करें, पहचानें कि आपका शरीर किस प्रकार में आता है..!

ईश्वर द्वारा बनाई गई इस दुनिया की सबसे खूबसूरत और अजीब बात यह है कि हमारी ऊंचाई और आकार अलग-अलग हैं। इसके अलावा, हम में से प्रत्येक का शरीर का आकार अलग होता है। आपने कई लोगों को देखा होगा जो बहुत कम खाने के तुरंत बाद मोटे हो जाते हैं। ऐसे लोगों के लिए वजन बढ़ाना बहुत आसान होता है। ऐसे लोगों को परफेक्ट बॉडी शेप में रहने के लिए कड़ी मेहनत और एक्सरसाइज की जरूरत होती है। वहीं, कुछ लोग बहुत दुबले-पतले होते हैं, चाहे कितना भी खा लें और ऐसे लोग स्वस्थ नहीं रह सकते। ऐसे लोगों के लिए अलग रूटीन फॉलो करना बेहद जरूरी है। इसलिए आज हम आपको विभिन्न प्रकार के शरीर के बारे में बताने जा रहे हैं और साथ ही आपको यह भी बताने जा रहे हैं कि आपको किस तरह की दिनचर्या और व्यायाम का पालन करना चाहिए।

बॉडी टाइप क्या है?

1940 में डॉ. डब्ल्यू. एच। शेल्डन ने शरीर के प्रकार की अवधारणा को दुनिया के सामने पेश किया। इसमें उन्होंने तीन प्रकार के शरीरों का परिचय दिया। इनमें एंडोमोर्फ, मेसोमोर्फ और एक्टोमोर्फ शामिल हैं।

1. एंडोमोर्फ –

इस प्रकार के शरीर या शरीर के प्रकार वाले लोगों में शरीर में वसा अधिक होती है। वे आसानी से और जल्दी वजन भी बढ़ाते हैं। एंडोमोर्फिक बॉडी टाइप महिलाओं को सुडौल और पुरुषों को स्टॉकी कहा जाता है।

2. मेसोमोर्फ –

इस प्रकार के शरीर वाले लोग आसानी से वजन बढ़ा सकते हैं और तुरंत वजन कम कर सकते हैं। इसके अलावा, ये लोग मांसपेशियों को भी बहुत कुशलता से और आसानी से विकसित कर सकते हैं।

3. एक्टोमोर्फ –

एक्टोमोर्फिक शरीर वाले लोग पेशीय नहीं होते हैं और उनकी हड्डियां भी आकार में छोटी होती हैं। ऐसे लोग आमतौर पर बहुत लंबे और पतले होते हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे शरीर में वसा में कम हैं। वे वास्तव में पतली वसा से भरे हुए हैं। लेकिन उनका वजन कम होता है।

(पढ़ना: – विश्व स्वास्थ्य दिवस: बेली फैट और कोलेस्ट्रॉल को एक साथ बर्न करता है।)

एंडोमोर्फ बॉडी टाइप क्या है?

सिर्फ इसलिए कि आप एक एंडोमोर्फिक बॉडी टाइप के साथ पैदा हुए हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि आप हमेशा मोटे या अधिक वजन वाले होते हैं। आप अपने शरीर के आकार को बदल सकते हैं और फिट रह सकते हैं। इस प्रकार के शरीर के आकार वाले लोगों का चयापचय बहुत धीमा होता है। ऐसे में इन लोगों को हमेशा ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो उनके मेटाबॉलिज्म को तेज करें, जिससे उन्हें फिट रहने में मदद मिल सके। स्वस्थ वसा, उच्च प्रोटीन आहार लें, लेकिन कार्बोहाइड्रेट की मात्रा भी कम करें। इसके अलावा इस बॉडी टाइप के लोगों को हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज, वेट और एंड्योरेंस ट्रेनिंग भी करनी चाहिए।

(पढ़ना: – विश्व स्वास्थ्य दिवस 2022: ‘इन’ 6 खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करें और लंबी उम्र जिएं…)

मेसोमोर्फ बॉडी टाइप लोगों को क्या करना चाहिए

इस प्रकार के शरीर वाले लोग मांसल होते हैं और उनमें उच्च शारीरिक क्षमता होती है। आमतौर पर इस प्रकार के शरीर वाले लोग एथलेटिक होते हैं और खेलकूद में भी अधिक दिखाई देते हैं। मेसोमोर्फ बॉडी टाइप वाले लोगों को अपनी दिनचर्या में हाई इंटेंसिटी वर्कआउट, प्लायोमेट्रिक्स, पाइलेट्स और योग को शामिल करना चाहिए। इसके अलावा, मेसोमोर्फिक बॉडी टाइप वाले लोगों को उच्च प्रोटीन आहार, अच्छे कार्ब्स और स्वस्थ वसायुक्त खाद्य पदार्थ खाने चाहिए।

(पढ़ना: – ख़राब फ़ूड कॉम्बिनेशन: सावधान रहें, गलती से अंडे के साथ न खाएं ये ‘अंडे’, नहीं होगा वजन कम या प्रोटीन, इसके अलावा होंगे 5 गंभीर साइड इफेक्ट..!)

एक्टोमोर्फ बॉडी टाइप वाले लोगों को क्या करना चाहिए?

इस प्रकार के शरीर वाले लोगों के लिए वजन बढ़ाना बेहद चुनौतीपूर्ण होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इनका मेटाबॉलिज्म बहुत तेज होता है। विशेषज्ञ इस प्रकार के शरीर वाले लोगों को अधिक स्वस्थ कार्ब्स खाने और प्रोटीन का सेवन सीमित करने की सलाह देते हैं। इसके अलावा, एक्टोमोर्फ शरीर के प्रकार वाले लोगों को ताकत और सहनशक्ति बढ़ाने के लिए प्रतिरोध प्रशिक्षण करना चाहिए।

(पढ़ना: – weight-Fat loss Tips: हेल्दी तरीका और बिना साइड इफेक्ट के कम हो जाएगी पूरे शरीर की चर्बी, हेल्थ गुरु मिकी मेहता ने कहा 5 सुनहरे नियम..!)

वजन घटाने के टिप्स

  1. वजन घटाने के बाद थकान और लगातार थकान रहेगी।
  2. वजन कम करने के लिए तली हुई चीजें कम खाएं। इसके बजाय भुना हुआ या पका हुआ भोजन अधिक खाएं।
  3. शराब से बचें। कोल्ड ड्रिंक जैसी चीजों से परहेज करना फायदेमंद होता है। वहीं दूसरी ओर आइसक्रीम वजन घटाने के लिए बहुत अच्छी है। कुछ निष्कर्षों के अनुसार वजन घटाने के लिए आइसक्रीम फायदेमंद है।
  4. मीठा, मीठा खाने से बचें। इससे शरीर में कैलोरी कम होती है। यह चर्बी कम करने में भी मदद करता है।
  5. वजन कम करने के लिए काजू और बादाम जैसे सूखे मेवे खाएं। यह आपकी मांसपेशियों को उत्तेजित करता है और इसमें उतनी भूख नहीं होती जितनी कि इसमें फाइबर होता है, जिससे पेट में खाना कम जाता है।
  6. सब्जियों और फलों का सही मात्रा में सेवन करें। क्योंकि इसमें फाइबर होता है, यह आपकी बढ़ी हुई कैलोरी को कम करने में मदद करता है।
  7. अपने दैनिक आहार में पानी की मात्रा बढ़ाएं। पानी शरीर को लगातार हाइड्रेट रखता है।
  8. उच्च कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों पर खूब पानी पिएं। आप पानी की जगह ग्रीन टी या हर्बल टी भी ले सकते हैं। इससे वजन घटाने में मदद मिलती है।
  9. रोजाना व्यायाम करना, योग करना, टहलना, दौड़ना ये सभी चीजें तुरंत वजन कम करने और वजन को नियंत्रण में रखने में मदद करती हैं।

(पढ़ना: – कोरोना चौथी लहर के लक्षण: कोरोना की चौथी लहर से पहले दांतों में दिखने लगे हैं ये 6 गंभीर लक्षण, विशेषज्ञों का कहना है ‘कोविड दांत’!)

.

Source link

bad food combinations for digestion: Bad food combinations : सावधान, अंड्यासोबत चुकूनही खाऊ नका ‘हे’ 5 पदार्थ, ना वेटलॉस होईल ना मिळेल प्रोटीन, शिवाय होतील 5 गंभीर दुष्परिणाम..!

अंडी हे एक सुपरफूड आहे जे प्रत्येकाला खायला आवडते. साहजिकच, अंड्यांचा आहारात अनेक प्रकारे समावेश केला जातो आणि प्रत्येक स्वरूपात ते आरोग्यासाठी फायदेशीरच ठरते. अंड्याची सर्वात खास गोष्ट म्हणजे ते लहान मुलांपासून ते वृद्धांपर्यंत कोणीही खाऊ शकतो. जर आपण अंड्याच्या ताकदीबद्दल बोललो तर ते प्रोटीन आणि व्हिटॅमिन्स यासारख्या विविध पोषक तत्वांचे भांडार आहे. तज्ज्ञांचे असे मत आहे की कोणतेही खाद्यपदार्थ किंवा पेय योग्य गोष्टींसोबत खाल्ले तर ते अधिक आरोग्यदायी फायदे देते, म्हणजेच फूड कॉम्बिनेशनला खूप महत्त्व असते.

चुकीचे फूड कॉम्बिनेशन शरीरासाठी खूप हानिकारक ठरू शकते. यामुळे पाचन तंत्र खराब होऊ शकते, ज्यामुळे थकवा, मळमळ आणि आतड्यांसंबंधित रोग होऊ शकतात. अंड्यांबाबतही तेच आहे. चुकीच्या गोष्टींसोबत अंडी खाल्ल्याने आरोग्याला जास्त नुकसान होते, जाणून घेऊया का आणि कसे?

दूधासोबत अंडी खावीत का?

अनेकांना हा प्रश्न पडतो की दुधासोबत अंडी खावी का? असे मानले जाते की अंडी कधीही दूध आणि पनीर या पदार्थांसोबत खाऊ नयेत. याशिवाय कलिंगड यासारख्या काही फळांसोबतही अंडी खाऊ नयेत.

(वाचा :- Weight-Fat loss tips : हेल्दी पद्धतीने व साईड इफेक्ट्सविना कमी होईल संपूर्ण शरीरावरची चरबी, हेल्थ गुरू मिकी मेहतांनी सांगितले 5 गोल्डन रूल्स..!)

टेंबुर्णी आणि अंड (Persimmon)

-persimmon

टोमॅटोसारखे दिसणारे हे फळ अनेक पोषक तत्वांचे भांडार आहे. पण अंड खाल्ल्यानंतर ते खाल्ल्याने गॅस्ट्रिक अटॅकची शक्यता वाढते आणि शरीरात विषारी पदार्थ जमा होऊ शकतात.

(वाचा :- corona 4th wave symptoms : करोनाच्या चौथ्या लाटेआधी दातांमध्ये दिसू लागली आहेत ‘ही’ 6 गंभीर लक्षणे, एक्सपर्ट्स सांगतायत ‘COVID Teeth’!)

चहा आणि अंड

हे असे कॉम्बिनेशन आहे ज्याचा जगभरातील अनेक लोक आनंद घेतात. खरं तर या कॉम्बिनेशनमुळे बद्धकोष्ठता होऊ शकते ज्यामुळे तुमच्या शरीराला गंभीर हानी पोहचू शकते. शिवाय बद्धकोष्ठतेमुळे मुळव्याधही होऊ शकतो.

(वाचा :- How to increase RBC : ना औषधं- ना डॉक्टरची गरज, लाल रक्तपेशी वाढल्यास आपोआप वाढेल शरीरातील ऑक्सिजन, आजपासूनच खा ‘या’ 5 गोष्टी..!)

सोया मिल्क आणि अंड

सोया मिल्कसोबत अंडी खाल्ल्याने तुमच्या शरीरातील प्रथिनांचे शोषण रोखले जाऊ शकते. अर्थात, जर तुम्ही प्रोटीन मिळवण्याच्या उद्देशाने अंडी खात असाल तर तुम्हाला फारसा फायदा होणार नाही.

(वाचा :- Harnaaz Sandhu Disease : मिस यूनिव्हर्स हरनाज संधू ‘या’ विचित्र व भयंकर आजारामुळे होत चाललीये लठ्ठ, साधं जेवण खाण्यावरही आहे बंदी..!)

साखर आणि अंड

जर तुम्ही साखर घालून अंडी शिजवलीत म्हणजेच अंड्याची एखादी रेसिपी बनवताना साखरेचा वापर केला किंवा अंड खाताना एखादागोड पदार्थ खाल्ला तर दोन्हीमधून निघणारी अमिनो अॅसिड्स मानवी शरीरासाठी विषारी ठरू शकतात आणि शरीरात रक्ताच्या गाठी (blood clot) तयार होऊ शकतात.

(वाचा :- Mango Vs Papaya : वेटलॉस व डायबिटीज कंट्रोलसाठी पपई आणि आंब्यापैकी कोणतं फळ आहे बेस्ट? ‘हा’ आहे जबरदस्त ऑपशन!)

टीप : हा लेख फक्त सामान्य माहितीसाठी आहे. हे कोणत्याही प्रकारे कोणत्याही औषधाचा किंवा उपचारांचा पर्याय असू शकत नाही. अधिक तपशीलांसाठी नेहमी आपल्या डॉक्टरांशी संपर्क साधावा.

.

Source link

नोरा फतेही ने सफेद पंख वाली फ्रॉक पहनी थी और फैंस उनके हॉट लुक और स्टाइलिश नेकलाइन से प्रभावित थे। | नोरा फतेह भी थीं बार्बी डॉल की तरह रेडी, लेकिन ड्रेस का नेकलाइन इतना बोल्ड था कि सबका ध्यान गया..!

बॉलीवुड की डांसिंग क्वीन नोरा फतेही हमेशा अपने बोल्ड लुक से सभी को मदहोश कर देती हैं. उन्होंने जो खूबसूरती हासिल की है और जिस तरह से उन्होंने अपने फिगर को मेंटेन किया है, उससे फैंस का हमेशा दिल टूटता है। नोरा का फैशन सेंस जबरदस्त है और इसलिए वह हर लुक से अलग छाप छोड़ती हैं। उनका इतना प्यारा और खूबसूरत लुक सामने आया और देखने वालों की निगाहें उन्हीं पर टिकी रहीं. क्योंकि वह सचमुच एक बार्बी डॉल की तरह दिखती थी, और वह इतनी सुंदर दिखती थी कि वह उससे नज़रें नहीं हटा सकती थी।

नोरा के लुक्स की एक और खासियत यह है कि वह जानती हैं कि उनका जो भी लुक है, उन्हें कॉन्फिडेंस के साथ कैसे कैरी करना है। सिंपल लुक हो या बेहद बोल्ड लुक, वह इसे इतनी शिद्दत के साथ कैरी करती हैं कि ऐसा लगता है जैसे लुक और आउटफिट उन्हीं के लिए बना है. उनका क्यूट बार्बी डॉल जैसा लुक भी उन्हीं के लिए बनाया गया था! (तस्वीरें साभार- योगेन शाह, @reshmaamerchant)

बार्बी डॉल की तरह

डांस रियलिटी शो ‘डांस दीवाने जूनियर्स’ के सेट पर नोरा की कुछ खास तस्वीरें सामने आईं और वह व्हाइट फ्रॉक स्टाइल की ड्रेस पहने नजर आईं. इस खूबसूरत आउटफिट में नोरा बार्बी डॉल की तरह लग रही थीं। सबकी निगाहें उस पर टिकी थीं। परिचारक ने मुड़कर उसकी ओर देखा। नोरा की ड्रेस में बस्ट एरिया के नीचे टाइट फिटिंग की बेल्ट लगी हुई थी। जिस पर मनके और मोती लगे हुए थे।

(पढ़ना: – उफ़.. गुलाब की पंखुड़ियों वाली बोल्ड ड्रेस पहनकर नुसरत भरूच ने तोड़ा आज तक की तमाम हॉट हसीनाओं का रिकॉर्ड, सेक्सी फोटो पर फैंस हुए घायल!)

साइड कर्व हाइलाइट

इस वेस्ट बेल्ट की फिटिंग इतनी टाइट थी कि नोरा के साइड कर्व्स हाईलाइट हो गए थे। साथ ही डीप वी नेकलाइन उनके लुक में बोल्डनेस जोड़ने का काम कर रही थी। जिसमें उनके क्लीवेज वाले हिस्से को भी दिखाया गया है। उसकी ड्रेस में स्लीव्स और बॉटम एरिया पर फेदर डिटेलिंग थी। बेल्ट का निचला हिस्सा भी पंख का था। जिससे वह एक खूबसूरत बार्बी डॉल की तरह लग रही थीं।

(पढ़ना: – कौन हैं कंगना? कौन हैं कृति?)

लेग्ड फ्लोट

इस मिनी ड्रेस में नोरा भी अपनी टोन्ड लेग्स फ्लॉन्ट करती नजर आईं। उन्होंने इस अल्ट्रा ग्लैम आउटफिट के साथ शिमरी नुकीली हील्स भी पहनी थीं। भारी गहनों की खाई द्वारा कानों में स्टड पहना जाता था। मेकअप के लिए डेवी फाउंडेशन, पीच शेड लिप्स, ब्लश्ड चीक्स, विंग्ड आईलाइनर विथ हेयर पार्टेड सेंटर और लेफ्ट फ्री इन स्लीक स्ट्रेट। नाइट पार्टी के लिए नोरा का लुक परफेक्ट है।

(पढ़ना: – बैकलेस ड्रेस में हॉट-बोल्ड जैकलीन फर्नांडीज ने गर्मियों में बढ़ा दिया इंटरनेट का पारा, फैन ने नशा देखकर किया कमेंट..!)

क्रॉप टॉप और टाइट्स

जी दरअसल नोरा ने जिस तरह से खुद को फिट रखा है वो वाकई काबिले तारीफ है. इस फोटो में वह ब्लैक क्रॉप टॉप के साथ मैचिंग टाइट्स पहने नजर आ रही हैं. वन-शोल्डर टॉप में डीप यू नेकलाइन उनके लुक में ऊप्स फैक्टर जोड़ रही है, वहीं उनकी टोन्ड मिड्रिफ भी पूरी तरह से हाईलाइट नजर आ रही है। नोरा ने ब्लैक शूज से अपने मेकअप फ्री लुक को परफेक्ट किया था। जो महिलाएं जिम या योगा करती हैं, वे ऐसे आउटफिट्स को अपने वॉर्डरोब में जरूर शामिल कर सकती हैं।

(पढ़ना: – तारा सुतारिया की टाइट बॉडी हगिंग ड्रेस देख खो गए फैंस, प्योर, टाइट कपड़ों में फ्लॉन्ट की स्लिम कमर, वायरल हुई फोटो!)

नोरा की स्किन केयर सीक्रेट

नोरा का कहना है कि ग्लोइंग और ग्लोइंग फेस के लिए आपको दही का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। दही में लैक्टिक एसिड होता है जो एक प्राकृतिक ब्लीच की तरह काम करता है। तो आप थोड़ा सा सिग्नेचर लेकर चेहरे पर मसाज कर सकते हैं। फिर अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। इससे कुछ ही दिनों में आपका रंग निखर जाएगा। कई एक्सपर्ट्स का यह भी कहना है कि इंस्टेंट ग्लो पाने का यह एक बेहतरीन तरीका है। तो ट्राई करें ये आसान सा उपाय।

(पढ़ना: – सोफे पर सो रही जाह्नवी कपूर ने शॉर्ट ड्रेस पहनी और कातिलाना पोज दिए.)

नोरा के बेहतरीन टिप्स

नोरा कहती हैं कि आप त्वचा की रंगत को हल्का करने के लिए भी शहद का इस्तेमाल कर सकती हैं। शहद ब्लीच की तरह काम करता है। शहद लगाने से त्वचा में नमी बनी रहती है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। शहद लगाने से चेहरे में चमक आती है और रूई की तरह मुलायम हो जाता है। इसके लिए चेहरे पर शहद लगाकर 5 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। मंडली, यहां कुछ सरल घरेलू उपचार दिए गए हैं जो आपको महंगे उपचार की आवश्यकता के बिना घर पर स्वस्थ और सुंदर त्वचा पाने में मदद करेंगे।

(पढ़ना: – प्रियंका चोपड़ा सेक्सी ब्लाउज : प्रियंका चोपड़ा के आउट स्ट्रिप ‘ब्रालेट ब्लाउज’ में सेक्सी लुक से फैंस हुए घायल, अब तक का सबसे हॉट लुक…!)

.

Source link

Bold Photoshoot News !! bold photoshoot की ताज़ा खबरे हिन्दी में

मैंने अब तक का सबसे किलर बोल्ड फोटोशूट किया सामने नेट कट ड्रेस में, नशे को देखकर फैंस हुए घायल..!

टीवी पर सबसे संस्कारी बहू कही जाने वाली एरिका एक अलग ही बोल्ड अवतार में कैमरे के सामने नजर आईं और सचमुच फैंस को मदहोश कर दिया.

टीवी एक्ट्रेस एरिका फर्नांडीज मौजूदा समय की लीडिंग एक्ट्रेस में से एक हैं। साथ ही वह सभी की सास जमात की पसंदीदा बहू बन गई हैं। बेशक, इसमें कोई शक नहीं कि उनकी एक्टिंग ने उन्हें काफी शोहरत दी है. लेकिन उनकी लाजवाब खूबसूरती और उनका लुक भी फैंस को उनका दीवाना बना देता है. न केवल युवा बल्कि युवा महिलाएं भी बड़ी संख्या में उनका अनुसरण करती हैं, इसका एकमात्र कारण उनका जबरदस्त फैशन सेंस है! उनका ऐसा कूल लुक इन दिनों सभी का ध्यान खींच रहा है. टीवी पर एरिका असल जिंदगी में एरिका से काफी अलग हैं और एक बार फिर उनका ये लुक इसे साबित करता है. इसने यह भी दिखाया कि वह आने वाले वर्षों में एक फैशन आइकन के रूप में अपना नाम बना सकती हैं।

शिमी आउटफिट बर्न करें

टीवी पर हमेशा साड़ी में संस्कारी बहू के रूप में नजर आने वाली एरिका ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर बोल्ड फोटोज पोस्ट कर माहौल गर्म कर दिया. इसमें वह गोल्डन शिमी आउटफिट में नजर आ रही हैं। साड़ी में वह आकर्षक दिखती हैं और किसी को भी अपना दीवाना बना सकती हैं, लेकिन इतने बोल्ड आउटफिट में उनका अवतार भी कम आकर्षक नहीं है! आउटफिट चाहे सिंपल हो या बोल्ड, एरिका में कीमत खाने का हुनर ​​है।

इस कपड़े के ब्रांड से पोशाक का चयन किया गया था
एरिका ने इस गोल्डन आउटफिट को क्लोदिंग ब्रांड नेहा बाफना से चुना था। जिसमें उनका टॉप सबसे बोल्ड था।

फ्रिल डिटेलिंग अधिकतम है


एरिका ने इस शिमी ड्रेस को मशहूर क्लोदिंग ब्रांड नेहा बाफना के कलेक्शन से उठाया है। इस आउटफिट का टॉप काफी बोल्ड है और यह एरिका के लिए शानदार डिस्काउंट है। शीर्ष को सामने की ओर खुली कमर तक खुला रखा जाता है। जिसमें झालर जैसी डिटेलिंग भी जोड़ी गई है। बस्ट एरिया पर इस ब्यूटी के क्लीवेज वाले हिस्से पर बेहद साफ शो हो रहा है, जो उनके पूरे लुक में ऊप्स फैक्टर जोड़ रहा था।

त्वचा की देखभाल के उपाय(Skin care tips)


एरिका ने अपने एक इंटरव्यू में स्किन केयर के कुछ टिप्स शेयर किए थे। युक्तियों में से एक बहुत उपयोगी था। एरिका अगर शूटिंग कर रही हैं तो वह हर रात अपना मेकअप हटाती हैं। अगर आप भी दिन में किसी भी तरह का मेकअप करती हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप कभी भी नाइट मेकअप लगाकर न सोएं। सोते समय हमेशा अपना मेकअप हटा दें। यदि ऐसा नहीं किया गया तो इसके बहुत ही अजीब परिणाम हो सकते हैं। एरिका एक अभिनेत्री भी हैं और उन्हें कभी-कभी दिन में बहुत सारा मेकअप करना पड़ता है। इसलिए वह बिना रात की नींद खोए अपना मेकअप पूरी तरह से साफ कर लेती हैं, जिससे उनकी त्वचा ठीक रहती है।

Virat Kohli Test Captaincy: ‘लीडर होने के लिए कप्तान होना जरूरी नहीं’, फैसले पर विराट कोहली ने पहली बार तोड़ी चुप्पी

विराट कोहली पीते हैं काला पानी: विराट ही नहीं एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा, मलाइका अरोड़ा, श्रुति हसन से बॉलीवुड डायरेक्टर करण जौहर ने भी क्षारीय पानी के फायदों को देखते हुए इसका सेवन शुरू कर दिया।

Virat Kohli को क्यों पीना पड़ता है

हाल के कॉर्पोरेट घोटालों के परिणामस्वरूप इस विशेषता की मांग में काफी वृद्धि हुई है। पानी जिसमें प्राकृतिक रूप से बायोकार्बोनेट होता है उसे क्षारीय पानी कहा जाता है। इस पर सबसे पहले चर्चा करने वाले क्रिकेटर विराट कोहली हैं। ट्विटर पर एक मजेदार प्रश्नोत्तर सत्र में, कोहली ने कहा कि वह घर पर क्षारीय पानी पीते हैं। उन्होंने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करते हुए कहा कि मैंने क्षारीय पानी की कोशिश की है। लेकिन मैं यह पानी नियमित रूप से नहीं पीता। हम घर पर क्षारीय पानी पीते हैं। सिर्फ विराट ही नहीं बल्कि बॉलीवुड डायरेक्टर करण जौहर से लेकर एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा, मलाइका अरोड़ा, श्रुति हसन तक ने क्षारीय पानी के फायदों को देखते हुए इसका सेवन शुरू कर दिया। (विराट कोहली ने पीया काला पानी, पढ़ें क्षारीय पानी के स्वास्थ्य लाभ)

इस पानी की कीमत 3 से 4 हजार प्रति लीटर है। इस पानी को पीने से शरीर को कई फायदे मिलते हैं।
माना जाता है कि एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण यह पानी फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करता है। सामान्य पानी का पीएच स्तर 6.5-7.5 के बीच होता है, जबकि इस पानी का पीएच स्तर 8-10 के बीच माना जाता है। इस वजह से यह सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है।

हैवेल्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष। सुरेश सिसोदिया ने कहा, “क्षारीय पानी पीने से संचार प्रणाली की दक्षता में सुधार होता है। उनके अनुसार, यह रक्त की गुणवत्ता को इस तरह से बदलता है कि शरीर के महत्वपूर्ण अंगों को अधिक से अधिक ऑक्सीजन प्रदान की जाती है। परजीवी और संक्रमण से लड़ने के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए क्षारीय पानी बहुत फायदेमंद होता है।

क्षारीय पानी की खपत के लाभ/Benefits of Alkaline Water Consumption

डॉ। सिसोदिया का कहना है कि क्षारीय पानी पीने से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। इस पानी को नियमित रूप से पीने से न केवल हड्डियां मजबूत होती हैं बल्कि वजन कम करने और पाचन में सुधार करने का भी यह एक शानदार तरीका है।

ब्लड प्रेशर रहता है कंट्रोल/Blood pressure remains under control

उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में क्षारीय पानी बहुत कारगर होता है। यह पानी सिस्टोलिक रक्त की चिपचिपाहट को कम करने में मदद करता है। इसलिए बेहतर है कि हाई बीपी की समस्या को दूर करने के लिए इस पानी का सेवन करें।

वजन घटाने के लिए फायदेमंद

वजन घटाने के लिए क्षारीय पानी का उपयोग किया जा सकता है। कई अध्ययनों में पाया गया है कि इलेक्ट्रोलाइज्ड क्षारीय पानी में मोटापा-रोधी प्रभाव होता है। तो यह पानी मोटापा कम करने के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

शरीर डिटॉक्स था

साक्ष्य-आधारित पूरक और वैकल्पिक चिकित्सा में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, क्षारीय पानी उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। यह शरीर के पीएच स्तर को नियंत्रित करने और कैंसर जैसी पुरानी बीमारियों के लिए भी वरदान है। ऐसा कहा जाता है कि क्षारीय पानी शरीर से अपशिष्ट उत्पादों को बाहर निकालता है और शरीर द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाता है।

इस पानी का पीएच स्तर सामान्य पीने के पानी की तुलना में अधिक होता है। यह आपके शरीर में एसिड को नष्ट कर देता है। यह ऑक्सीकरण प्रतिक्रिया क्षमता (ओआरपी) को भी कम करता है, जिससे पानी में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा बढ़ जाती है। ओआरपी पानी की एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करने की क्षमता है। ओआरपी मान जितना कम होगा, पानी की एंटीऑक्सीडेंट क्षमता उतनी ही अधिक होगी।

हड्डियाँ अच्छी रहती हैं/हड्डियाँ अच्छी रहती हैं

क्षारीय पानी को हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद दिखाया गया है। यह हड्डियों के नुकसान के जोखिम को कम करने में मदद करता है। इसलिए क्षारीय पानी पीने से हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है।

मधुमेह नियंत्रण में रहता है

मधुमेह के रोगियों के लिए क्षारीय पानी बहुत अच्छा माना जाता है। क्षारीय पानी में मधुमेह विरोधी प्रभाव होता है। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि इस पानी में मधुमेह को नियंत्रित करने की काफी क्षमता है।

ओमाइक्रोन/ जनवरी में देश में कोरोना की तीसरी लहर? सतर्क नहीं हुए तो बिगड़ेंगे हालात.

ओमाइक्रोन/ जनवरी में देश में कोरोना की तीसरी लहर?

लोगों ने समय रहते सतर्क नहीं किया तो जनवरी में दिल्ली में आएगी कोरोना की तीसरी लहर, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है। ऐसे में प्रशासन की चिंता भी बढ़ गई है।

ओमाइक्रोन और कोरोना

देश भर में ओमाइक्रोन और कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीं दिल्ली के हालात और भी चिंताजनक हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि दिल्ली में पिछले कुछ महीनों में मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 249 नए कोरोना मरीज सामने आए हैं. जो 13 जून के बाद सबसे बड़ा प्रकोप है। यह दिल्ली में पॉजिटिव रेट में बड़ी बढ़ोतरी को दर्शाता है। नए मरीजों के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों का प्रतिशत घट रहा है।

लोगों ने समय रहते सतर्क नहीं किया तो जनवरी में दिल्ली में आएगी कोरोना की तीसरी लहर, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है। ऐसे में प्रशासन की चिंता भी बढ़ गई है। दिल्ली में चार महीने में सबसे बड़ा प्रकोप देश के अन्य राज्यों के लिए सिरदर्द होने की संभावना है। नए साल में जनवरी के अंतिम सप्ताह में तीसरी लहर आने की उम्मीद है और मौजूदा उछाल को देखते हुए स्थिति और खराब होने की आशंका है।

ओमिक्रॉन रोगियों की संख्या

ओमिक्रॉन रोगियों की संख्या में तेजी से वृद्धि की भविष्यवाणी करते हुए, विशेषज्ञों ने दिल्ली में समूह सेक्स की शुरुआत का सुझाव दिया है। ओमाइक्रोन के कई मरीज ऐसे हैं जिनका कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि ओमिक्रॉन को रोकना मुश्किल है क्योंकि कई ओमिक्रॉन रोगियों में कोई लक्षण नहीं दिखते हैं। जानकारों का अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में दिल्ली में रोजाना एक हजार कोरोना के मरीज मिल जाएंगे. इसकी गंभीरता को देखते हुए लोगों को कोरोना नियमों का पालन करने की जरूरत है।

क्या महाराष्ट्र के लिए भी बढ़ेगा खतरा?

दिल्ली में आउट पेशेंट का बढ़ना भी महाराष्ट्र के लिए चिंता का विषय है, क्योंकि महाराष्ट्र में भी कोरोना मरीजों की संख्या फिर से बढ़ रही है. प्रशासन अलर्ट मोड पर है क्योंकि ओमाइक्रोन राज्य में भी फैल गया है। प्रशासन ने राज्य में रात के कर्फ्यू सहित कुछ प्रतिबंध फिर से लगाए हैं, और होटल, रेस्तरां, स्पा, जिम और सिनेमा के घंटे और पहुंच को भी प्रतिबंधित कर दिया है। शादियों, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या पर भी प्रतिबंध है।

Enable Notifications    OK No thanks